Post Reply 
मौसी बोली मैं जवान हो गया हु
15-07-2014, 02:19 AM
Post: #11
मुझे अब चुदाई के प्रोग्राम को रिसेट करना था तो मैने झट से प्रोग्राम बना लिया कि पहले मौसी की चुदाई करूँगा क्योंकि वो एकदम गरम थी, मैं वहाँ से उठकर मौसी के डोर की तरफ बढ़ा तो मौसी पहले ही बाहर आ रही थी और मुझे डोर के पास मिल गयी.
मैने मौसी से कहा तुमने सब गड़बड़ कर दिया तुम्हारी चूत तो आज बड़ी मस्त हो रही है लगता है कि मेरा लंड आज उसे ही पहले चोदेगा.
मौसी बोली ज़रा धीरज रखो कुश राजा, इतनी जल्दबाज़ी ठीक नही अरे मज़ा तो तब है जब वो अपने आप तुमसे चुदवाने को तय्यार हो जाए. मैने कहा जो भी हो मौसी डार्लिंग में नही रुक सकता और मैने मौसी को पकड़ कर अपनी बाहों में भर के चूमना सुरू कर दिया. मौसी अपना बचाव करती रही फिर बोली ज़्यादा नही मैं उसे पकड़ कर रूम के अंदर ले गया और डोर बंद कर दिया.
तब तक शायद पायल सो गयी थी इस समय रात के १२बज रहे थे और मुझे तो ठंड भी लग रही थी.
मौसी भी मेरी चुम्मि का जबाब चुम्मि से देने लगी. मैं बेड के पास सोफे पर बैठ गया और मौसी को अपनी बाहों में जाकड़ लिया और उसकी बॉडी को अपनी बॉडी से रगड़ कर गर्मी पैदा करने की कोशिश करने लगा. मैं मौसी को बेड पर नही लेकर गया क्योंकि पायल जाग सकती थी और मैं अब पहले मौसी की फुलटो चुदाई करना चाहता था और पायल की गंद और चूत को गर्म करने में टाइम लगता और ताक़त भी ज़्यादा लगानी पड़ती जिससे पायल की नींद डिस्टर्ब होती.
मैने मौसी को अपनी गोद(लॅप) में इस तरह बिठाया कि उसकी चूतड़ मेरे थाइ पर रहे और उसकी गंद मेरे लंड के निशाने पर. मैं मौसी को पूरा एग्ज़ाइट करके चोदना चाहता था. फिर मैने मौसी की ब्रा थोड़ा उपर करके उसके बूब्स दाबना सुरू कर दिया
साली के चूची 3२ साल में भी टाइट थी और शायद मेरे और उसके हब्बी के अलावा उनको किसी ने नही दबाया था. मैं जैसे ही उसकी चूची दबाता साली पूरी कोशिश करती कि वो मेरे हाथ में ना आयें साली मुझे तरसाना चाहती थी. पर मैं एक मर्द हूँ मेरे सामने उस च्छुई मुई की क्या औकात पर साली पूरा मज़ा लगा देती.
अब मैने उसके ब्लाउस को पिछे से भी उपेर करके उसकी पीठ को चूमना और चाटना सुरू कर दिया. मैं एक हाथ से उसकी चूची दबा रहा था और दूसरे से उसकी कमर को जाकड़ रखा था और मेरी जीभ और लिप्स उसकी बॅक पर ट्रॅवेलिंग कर रहे थे वो कभी ब्रेक लगाते कभी कट गियर, कभी किस गियर और कभी सक गियर से उसकी बॅक, नेक, आर्म्पाइट, बूब्स का जायज़ा ले रहे थे.
मौसी के चिकने चूतड़ मेरे लंड के ठीक उपर थे और मैं पेटीकोट के पतले कपड़े के अंदर से उनकी गर्मी को पूरा फील कर सकता था. मैने अपने दूसरे हाथ से मौसी के बूब्स दबाने सुरू कर दिए तो उसको थोड़ा मज़ा आने लगा पर वो ज़बरदस्ती परेशानी का नाटक करती रही. मैने भी उसके बूब्स का मसाज जारी रखा तो अब वो थोड़ा थोड़ा मस्ती में आने लगी पर वो अभी भी मुझे रोकने की कोशिश करती रही.
मौसी जितना मना करती मैं और ज़ोर से उसके चूची दबाता और नीचे से भी उसकी गंद और चूतड़ की गहराई पर अपने लंड को लूँगी के अंदर से ही रगड़ता जाता. मौसी बोली अरे कुश डार्लिंग मार ही डालेगा क्या, मैने कहा नही मौसी जान मुझे क्या प्यासा रहना है क्या इतनी सर्दी में.
अब तो बिना शबाब के रात भी मुश्किल से कट ती है.और शबाब का इंतज़ाम तो आप से ही होता है.बिना आपके कैसे इंतज़ाम होगा. इसके बाद मैने उसके पैरों को दबाकर एक हाथ उसकी दोनो टाँगो के बीच अंदर डाल कर उसकी जाँघो तक हाथ पहुचा दिया और उसकी दोनो जांघों पर गुदगुदी करने लगा.
मेरे इस आक्षन से वो हड़बड़ा गयी और उसने अपनी दोनो टाँगें फैला दी मैं उसकी दोनो टाँगों के गॅप में बैठ गया और उसका पेटीकोट एक दम उपर कर दिया. फिर मैने उसके दोनो चूतड़ को अपने दोनो हाथों से दबा दिया अब मेरे लिए उसकी गांद मारना तो और भी आसान था.
अब मैने पहले उसकी गंद ही मारने की सोची क्योंकि साली जब पायल के साथ मस्ती कर रही थी अपनी गंद ज़्यादा ही मतकाती थी और गांद मरवाने में बहुत नखरे भी करती है. अब मैं मौसी को उठाकर बेड पर चित लिटाकर पटक दिया और एकदम उसके उपर सवार हो गया नही तो मौसी फिर मेरी पकड़ से निकल जाती.
मैं एक एक कर अपनी लूँगी को खोल कर अपना अंडरवेर भी उतार दिया और फिर बनियान उतार कर एक दम नंगा हो गया पर इस दौरान मैने मौसी को पूरी तरह से अपने नीचे दबा के रखा.

Visit My Thread
Send this user an email Send this user a private message Find all posts by this user
Quote this message in a reply
15-07-2014, 02:19 AM
Post: #12
उसकी चिकनी और मुलायम मक्खनी स्किन को दबाने में तो बड़ा मज़ा आ रहा था. लेकिन मैं मौसी को भी पूरा नंगा कर लेना चाहता था जिससे साली शरम के मारे हल्ला ना कर सके, क्योंकि साली खुद नंगी होगी तो पायल के उठने के डर से हल्ला नही करेगी.
उसको मालूम है कि पायल भी नंगी है और मैं कही उसे छ्चोड़ कर पायल पर पिल गया तो मौसी अपनी चूत पर उंगली करती ही रह जाएगी. पहले मैने एक हाथ से उसके पेटीकोट की गाँठ खोल दी और एक झटके में उसे नीचे किया और दूसरा झटका पावं से देते हुए पेटीकोट को दूर फेंक दिया.
फिर मैने मौसी के कमर तक के हिस्से को ज़ोर से दबाकर रखा और उपर थोड़ा ढीला छ्चोड़कर उसका ब्लाउस एक झटके में उसके बाजू से बाहर निकाल दिया. अब साली वो भी एकदम नंगी थी और में भी और बगल में कंबल के अंदर दूसरी चूत (पायल) सोती सुंदरी बनी हुई थी.
दोस्तों और सहेलियों आप अंदाज़ लगाओ क्या सिचुयेशन है,लंड एक है और छेद 6 और अभी तक एक छेद ने भी लंड का स्वाद नही चखा है.
मैने मौसी को उसके पेट के बल दबाकर रखा था और कोई मौका ना देकर उसकी चूची दबा ली और उसकी गांद की वॅली में अपना लंड रखकर पहले बाहर से ही रगड़ मारना सुरू किया. मौसी बोल रही प्ल्ज़ कुश आराम से बहुत दर्द होता है तुम एकदम कसाई होकर पिल जाते हो कुछ तो ख़याल करो मेरी गांद फट जाएगी.
प्लीज़ कुश मैने तुम्हारा क्या बिगाड़ा है क्यों मेरी गांद फाड़ने पर लगे हो. आज तक मैने कभी गांद नही मरवाई है.आज फाड़ डालोगे क्या मेरी गांद. तुम तो मुझे बिल्कुल रंडी समझने लगे हो. मैने कहा अरे घबराती क्यों हो अब जब नंगी हो गयी हो तो रंडी बनने में क्या शरम वैसे भी हर औरत का यह रंडी वाला टाइम है.
तुम तो समझदार हो आइडीयल वुमन के मेरिट्स तो पता होने चाहिए,कि सुबह मोम, दिन में दोस्त, शाम को लवर और रात में रंडी. मौसी बोली वैसे तुम्हारी बात करते गांद फट जाती है पर यहाँ तो मेरी गांद फाड़ने की बातें और रंडियों के स्पेशलिस्ट बन रहे हो.
मैने कहा तुम भी तो दिन में बड़ी सती सावित्री बनी फिरती हो मुझे देखते ही अपना सर आँचल से ऐसे ढकती हो जैसे में तुम्हारा ससुर लगता हूँ. इस तरह बातें करते हुए मैने मौसी की गांद के छेद का निशाना लेते हुए अपना लंड पूरी ताक़त से उसकी गंद में ठोक दिया जैसे ट्यूब वेल की ड्रिलिंग मशीन का ड्रिल ज़मीन में ठूकता है.
मौसी इतनी ज़ोर से चीखी उउउउउह्ह मेर्र्र्रीईइ माआन्न, माअररर द्दाल्ल्लाअ स्साअल्ल्ली न्नईए. मौसी की इस चीख से शायद पायल जाग गयी थी पर उसने कंबल से बाहर मूह नही किया.
या तो वो दोबारा सो गयी या चुपचाप हमारी गंद मस्ती का नज़ारा देख (सुन) रही थी. मैने अपने लंड को बिना हिलाए डुलाए मौसी का ध्यान टालने के लिए उसके पेट और आर्म्पाइट्स पर चूमना और चाटना शुरू कर दिया और मेरा लंड उसकी गंद की गहराई में पूरा समाया हुआ था लेकिन मौसी को अभी उसका अहसास नही कराना चाहता था.
मौसी पेट और बूब्स के बल चित लेटी हुई और उसके चूचिया बेड पर चिपकी हुई सी थी मैने धीरे धीरे एक हाथ से उसके चूचो पर भी दबाव बना शुरू कर दिया और पूरी स्पीड से उसकी बॅक, नेक, आर्म्पाइट और उसके बूब्स की जध पर भी होंठों (लिप्स) से चुम्मा ले लेता था.
मैने उसकी बॉडी के उपर के पूरे हिस्से पर अपनी जीभ, होंठो और कभी कभी ज़्यादा मस्ती के लिए हल्का सा काट भी लेता था और उसको फूलटो मस्त करने की पूरी कोशिश कर रहा था. अब जब मौसी की गंद मस्ती में बिल्कुल मस्त हो गयी तो वो मस्ती में अपने पैर पटक कर और अपने चूचे उठाकर मुझे अपने बूब्स दबवाने और गंद ठोकने के लिए और एग्ज़ाइट कर रही थी.
दोस्तों/सहेलियों में भी उसकी मस्ती का पूरा ख़याल रखते हुए उसके सर से पैरों तक हर पार्ट को पूरा एग्ज़ाइट करने में लगा था यहाँ तक की मैं अपने दोनो पैरो से उसकी टाँगों, पैरों और फुट फिंगर पर भी मसाज करके उसकी प्यास को बढ़ाने की कोशिश कर रहा था.
अब तो वह गंद मस्ती में अपने चूतड़ उठा उठा कर अपनी गंद के रास्ते को और खोलकर मस्ती का सिग्नल दे रही थी.
जब मुझे पूरा विश्वास हो गया कि वो पूरी तरह मस्त हो गयी है तो मैने धीरे धीरे अपने लंड को उसकी गंद में लेफ्ट राइट अंदर ही घुमाना सुरू कर दिया जिससे उसको परेशानी भी ना हो और मुझे भी मेहनत कम करनी पड़े. मैं गंद मस्ती के लिए केवल उसकी गंद पर ही कॉन्सेंट्रेट ना करके उसकी पूरी बॉडी को एग्ज़ाइट कर रहा था.
मेरे ऐसा करने से वो अपनी गंद और चूतड़ और ज़ोर से उपर नीचे करने लगी और मस्ती में में मोन करने लगी अहह, कुउहह, एम्म, ऊऊहह, माआज़्ज़ा आआ गययायाअ कुउस्स्स्स्सह आौर ज्ज्ज्जॉर्र्र्सस्ससी ढाका लागाऊव आअज्जजज टू फछद के ही राआआआख दूवग़ग्गीई, फॅट जाए साली पर ऐसा मज़्ज़्ज़्ज़्ज़ म कुउुउउस्स्स्शह. मुझहह्े तो पााात्ताआआ हीईीई नहियीईई त्ााअ गंदड़ मसत्त्तिईइ कककककाा म्माज़्ज़ाआ आअहह. मौसी की सी चीख पुकार से पायल जाग गयी थी या वो पहले ही जागी हुई थी और अब कंबल से मूह बाहर निकाल कर चुपचाप हमे देख रही थी पर वो शायद नींद और नंगे होने की वजह से चुप थी.
इससे मुझे बड़ी राहत मिली क्योंकि मेरा अगला टारगेट तो उसी की गंद थी और फाइनल टारगेट उसकी चुदाई.

Visit My Thread
Send this user an email Send this user a private message Find all posts by this user
Quote this message in a reply
15-07-2014, 02:19 AM
Post: #13
मौसी की गंद मस्ती में आने के बाद मैं तो एक दम नॉर्मल और रिलॅक्स हो रहा था क्योंकि मुझे बिल्कुल मेहनत नही करनी पड़ रही थी वो अपनी गंद और चूतड़ उठा उठा कर अपनी गंद खुद मरवा रही थी, मैं बस उसके चूचों और उपर की बॉडी पर अपने होंठों से अपना प्यार बरसा रहा था.
इस समय सचमुच मैं और मौसी मस्ती की फाइनल स्टेज पर थे और दोनो दुनिया से और बगल में लेटी पायल से बेख़बर गंद मस्ती का आनंद ले रहे थे और मुझे भी पहली बार गांद मारने में इतना मज़्ज़ा आया.
जब मौसी कुच्छ थकने लगी तो मैने अपने लंड का ज़ोर दिखाना सुरू कर दिया और अब मैं उसकी गांद में अपना लंड पूरी ताक़त से उपर नीचे पेलने लगा और मौसी फिर मस्त हो गयी और घुटनो पर टिककर अपनी गंद को उपर कर लिया ताकि उसकी गंद में मेरा लंड पूरी तरह समाता रहे.
बगल में लेटी पायल चुप दिखती थी पर शायद उसके अंदर भी मौसी की चुदाई को देखकर वासना(सेक्षुयल डिज़ाइर) का तूफान ज़रूर उठ रहा होगा.
कुच्छ देर बाद मेरे लंड के अंदर हरकत होनी सुर हो गयी और मुझे लगा कि मेरा माल बाहर आने वाला है तभी मौसी बोली कुश प्लीज़ अब मैं थक रही हू थोड़ा रूको और इतना कहकर वह चित लेट गयी मैने भी उसके दोनो हाथों को अपने हाथों से दबाकर अपना लंड पूरे दबाव के साथ उसकी गंद में ठोक दिया.
तभी मेरे लंड की पिचकारी उसकी गंद में छ्छूट गयी और वो कहने लगी कुश लगता है तुम्हारे पिचकारी की बौछार हो गयी है. इसके बाद मैं कुछ देर लंड उसकी गंद में डाले हुए ही शांति से उसके उपेर लेटा रहा फिर मैने धीरे से अपना लंड बाहर निकाला और वह बिल्कुल मुनक्के की तरह सिकुड गया था.
जैसे ही मैने अपना लंड बाहर निकाला मौसी की नज़र बगल में लेटी पायल की तरफ गयी और उसने मेरी नज़रें बचाते हुए पायल को आँख मारी (जैसे की चुदवाने का राइट टाइम आ गया है). फिर मौसी ने अपने ब्लाउस को पहना और पेटीकोट को बांधने लगी और मैने अब पायल की ठुकाई करने की सोची.
जैसे ही मौसी अपनी सफाई के लिए बाहर गयी मैने एकदम कंबल उठाया और पायल एकदम नंगी पीठ के बल लेटी थी.
मैं बिना देर लगाए पायल के पेट के उपेर बैठ गया और उसकी दोनो चूचियो को दोनो हाथों से पकड़ लिया और अपना लंड उसकी दोनो चूचियों के बीच में रखकर चुदाई वाली स्टाइल में रगड़ने लगा.
यह सब इतनी जल्दी हुआ की पायल कुछ समझ ही नही पाई.
इससे मेरा लंड सॉफ हो गया दूसरा मेरे लंड की रगड़ से मेरा लंड भी फिर से टाइट होने लगा और पायल की ठुकाई की तय्यारी सुरू हो गयी.
इस बार जैसे ही पायल मस्ती में आने लगी और आ उूउउ म्*म्म्ममममममम करने लगी तो मैने मौका देखते ही अपना लंड उसके खुले मूह के अंदर डाल दिया. ऐसा करके मैने अपने लंड का इंट्रोडक्षन पायल को करा दिया. पायल मेरे से किसी भी तरह बच नही सकती थी और उसे मज़ा ज़रूर आ रहा था क्योंकि वो मेरे लंड को ऐसे चूस रही थी जैसे उसकी बेबी उसका चूचियों से दूध पी रही हो.
पायल लंड चूसने की माहिर लगती थी क्योंकि वो बड़े मस्ती में मेरा लंड चूस रही थी में भी उसकी इस हरकत से दंग रह गया.
मेरे लिए भी ये बड़ा ही अलग एक्सपीरियेन्स था, कभी वो मेरे पूरे लंड को मूह में अंदर बाहर करती जैसे उसका मूह ना होकर चूत हो और कभी मेरे लंड को धीरे से पकड़ कर उसके टोपे पर किस वाली स्टाइल से सक करती थी तो कभी अपने लिप्स से मेरे लंड को पकड़ कर उपर नीचे झटका देती थी.
अब मैं पूरी तरह पायल के कंट्रोल में था क्योंकि मेरा लंड उसके कंट्रोल में आ गया था.
पर पायल पूरा ख़याल रख रही थी कि मुझे कोई परेशानी ना हो. और वो मेरे लंड का एक दम ऐसे ख़याल रख रही थी जैसे मा अपने बच्चे का ख़याल रखती है.
पायल इतना कॉपरेट करेगी मुझे पता नही था मैं तो सोच रहा था कि कही सारा मामला उल्टा पड़ जाए और मैं जो इतने दिनो से मौसी की चुदाई करता था वो भी बंद ना हो जाए.
पर अब तो मज़ा आ गया था और मेरी मुश्किल भी बढ़ गयी थी क्योंकि अब मेरे लंड को दो चूतो को संभालना था और कहाँ मैं एक को भी कभी कभी ही ठोक पता था.
अचानक पायल रुक गयी और मेरे लंड को आज़ाद करते हुए बोली, कुश तुम अभी नये खिलाड़ी हो और अब तुम्हारी डंडी एकदम तैयार है और ज़्यादा गड़बड़ की तो यह मिसफाइयर कर देगी और एक घंटे तक इसको थामे हुए हिलाते रह जाओगे.

Visit My Thread
Send this user an email Send this user a private message Find all posts by this user
Quote this message in a reply
15-07-2014, 02:20 AM
Post: #14
मैं उसका मतलब समझ गया था और मैं भी अपनी एनर्जी उसकी चुदाई के लिए बचाना चाहता था और उसकी चूत का स्वाद लास्ट में लेना चाहता था, इसलिए अब मैने पायल के साथ गंद मस्ती करने का फ़ैसला किया. मैने पायल को पेट के बल उल्टा लिटा दिया और उसकी पीठ की तरफ से सीधे उसकी गंद पर सवार हो गया.
नंगी तो वो पहले से ही थी और उसने कोई ख़ास विरोध भी नही किया. मैं पायल की बॉडी के उपर लेट गया और अपना लंड उसकी गंद के छेद में डालने की कोशिश करने लगा तो पायल ने मेरे लंड को पहले से ही एकदम तय्यार कर रखा था. फिर उसने अपने हाथ से पकड़कर मेरे लंड को अपनी गंद के पास अड्जस्ट किया और बोली अब लगा दे पूरी ताक़त और दिखाओ अपना ज़ोर देखती हूँ तुम्हारे इस जवान लंड में कितना दम है.
मैने भी पूरी ताक़त से पायल की गंद में अपना लंड ठोक दिया. उसकी गंद थी बड़ी टाइट पर उसके चूतड़ भी बड़े मस्त थे और ऐसा लगता था जैसे मेरा लंड किसी मखमल के गद्दे के बीच किसी छेद में फॅस गया हो. पायल साली तो जबरदस्त चुड़क्कड़ निकली मैं तो उसे बड़ा शरीफ समझता था पर वो तो बड़ी ही एक्सपर्ट चुदासी लगती है.
उसने जिस स्टाइल में मेरा लंड चूसा और अब गंद मरवा रही थी उससे लगता था कि वह सब आक्षन में माहिर है. पायल बोली कुश जल्दी बाज़ी मत करना आराम से धक्के लगाओ और मुझे कोई जल्दी नही है.
मैने कहा तुमको तो लगता है गंद मरवाने का बड़ा एक्षपीरियंस है. तब पायल ने बताया कि नही एक दो बार उसके हब्बी ने कोशिश की थी पर वो हड़बड़ी में कभी अच्छी तरह गंद नही मार पाया और उसकी पिचकारी पहले ही छ्छूट गयी.
उसने बताया कि उसने कई बार गांद मस्ती वाली ब्लू फ़िल्मे अपने हुउउब्बी के साथ और अकेले मे देखी हाइईईई अओर उसी से ये आइडिया है.
मैं फिर धीरे धीरे उसकी गंद में जगह बनाने के लिए धक्का लगाने लगा. पायल कह रही थी बस इसी तरह लगे रहो धीरे धीरे स्पीड बढ़ाना मुझे मॅज़ा आ रीएहहा हहाइईइ.
अब मैं पायल की गंद में अपने लंड को पेलने लगा तो उसकी गंद में सरसराहट सी होने लगी और वो भी मस्ती में आने लगी.
जब पायल की मस्ती बढ़ने लगी तो उसने अपनी गंद उठा उठा के मुझे सहयोग देना सुरू कर दिया और मुझे बताती भी जाती कि ज़्यादा ज़ोर मत लागाओ आराअम सीए धाक्का पेली कारो.
बगल में मौसी उसकी गंद मस्ती देख कर बेचैन हो रही थी तो पायल ने उसे सामने पिल्लो पर बैठने को कहा और उसकी दोनो टाँगें फैला दी. फिर पायल उसकी जांघों के बीच में झुक गयी और और उसकी चूत के आस पास चाटने लगी. दोस्तो देखा आपने कहाँ तो पायल की चुदाई के लिए मरा जा रहा था चूत की चुदाई करने की बजाय दोनो की गाड़ की ही थुकाइ ही कर दी चलो कोई बात नही अगले पार्ट मे पायल की चुदाई भी देख लेंगे
पिछचे से वो अपनी गंद उठा उठा कर गंद मरवाने में भी मस्त थी और उधर मौसी की चूत को चाटना भी सुरू कर दिया.
जब उसे मज़्ज़ा आने लगा तो वो मुझसे बोली कुउष आआब मौका है अपनी पूरी ताक़त से ठोको मेरी गांद मे.
पायल चीखने लगी और्र ज्जॉर्र्र्र सससे एम्म आआहह म जाअरा आआर ऊवार सीए आअज्जज मेरी गांड्ड़ड़ क्कू फ्फ़ादद दूओ म्मेरी कुउहह राआजाअ. तुमसे तो गाड्ड़नदण्ड मरवानने काअ म्माज़्ज़ा गायया एककक सालाअ मेराअ हुब्ब्ब्बी हमीशाअ ज़ूर जबार्दासति काअरता रीईईटा हाई मेरी कूई कदर्र्ट ही नही साअलल्ल्ल्लीए कक्कूव. कुउस्स्स्स्शह आअज्जजज तो मीरी गांद कििई भूख मिईीईता दो मैं तो तुम्ाअरी ईईआन मंद हूँ. प्ल्स. कुउष आअब स्पीड बबधाअ डू अओर्र गांद फाटने की चिंता म्*म्माअत्त्त कककर्रिई ये नाज़ुक है पार बाअदी माजबोट भी हयाययी.
इसके बाद मैने उसको बताया चुदाई के इस स्टाइल को 69 पोज़िशन कहते है तो वो बोली कि उसको तो पता ही नही था और उसके हब्बी ने कभी इस तरह उसकी नही ली थी. मैने कहा तुम देने वाली बनो में इतने स्टाइल बताउन्गा कि दिन गिनना भूल जाओगी किस दिन किस स्टाइल में चुदवाइ थी.
वो बोली अब ज़्यादा तारीफ मत करो रात बातों में ही गुज़ार दोगे तो आज लोगे कैसे. मैं भी ज़्यादा बात नही करना चाहता था क्योंकि मेरा लंड उसकी चुदाई के लिए मचल रहा था और उसके मूह का स्वाद लेकर एकदम लोहे का डंडा बन गया था.
फिर मैने कहा कि आज की फिल्म के मेन रोल की तरफ चलते हैं अब चुदवाने के लिए तैयार हो जाओ तो मौसी बोली तुम तो अब जान ही गये होगे कि मैं तो तैयार हूँ पर तुमको मेहनत करनी पड़ेगी. इधर पायल ने अपने मूह से मौसी की चूत पर हमला कर दिया था और मौसी की हालत खराब कर दी थी.
इधर अब मेरा लंड ने पूरी स्पीड पकड़ ली थी और वह पूरी ताक़त से पायल की गंद पर पिला हुआ था. पायल की बॉडी इतनी मुलायम और गुदगुदी थी कि थकने के बावजूद भी मज़ा आ रहा था.

Visit My Thread
Send this user an email Send this user a private message Find all posts by this user
Quote this message in a reply
15-07-2014, 02:21 AM
Post: #15
और अब मेरे लंड के अंदर सनसनाहट होने लगी तो मैने पायल को बोला की अब तैयार हो जाओ बरसात होने वाली है तो पायल बोली कोई बात नही मेरे राजा मेरी गंद तो तुम्हारे लंड की उस बरसात से भीगने को पूरी तरह तय्यार है और तुम चिंता मत करो और लगे रहो डार्लिंग.
औरत के शरीर की भूख भी औरत से क्या क्या कहलवाती है ये मुझे पायल को देखकर पता चल रहा था फिर मेरे लंड से एक लिक्विड का फोर्स निकला और पायल की गंद की गहराई में समा गया.
पायल बोली आआहह एमेम आआहहहहा आअज्जज तो तुऊउँहारे लंड की बरसाआत ने मेरी गंद को भिगो कर मस्त कर दिया…
मैं अपने लंड को उसकी गंद में रोके हुए ही उसके उपर लेट गया. थोड़ी देर में पायल की गंद से मैने अपना लंड निकाल और अब मौसी चुदवाने के लिए मचल रही थी पर मेरा लंड तो सूख कर छुहारा हो गया था और उसको नॉर्मल करना ज़रूरी था.
इसके लिए मुझे फिर पायल के पास जाना पड़ा क्योंकि वही मेरे लंड को खड़ा कर सकती थी उसके होंठों में भी बड़ा दम था साली ने मौसी को चुदवाने के लिए एकदम तैयार कर दिया था और इसी काम में मेरा तो दिन निकल जाता था.
पायल मेरा इरादा समझ गयी और बोली मैं तो इसकी एक्सपर्ट हूँ क्योंकि मेरा मर्द साला एकदम झाड़ जाता है इसलिए बार बार साले के लंड को खड़ा करना पड़ता है.
पायल ने मेरे लंड को पहले मौसी के पेटीकोट से पोच्छा और बोली सॉरी यार पर इसे मैं तुम्हारे पेटीकोट के अंदर के लिए ही तैयार कर रही हूँ और हसणे लगी.
फिर मौसी ने मेरे लंड को अपने मूह में भरकर बहलाना फुसलाना सुरू कर दिया और आराम से उसको खड़ा करने के लिए राज़ी करने लगी.
10 मिनिट में कमाल हो गया और मेरा लंड एक दम 90 डिग्री पर खड़ा हो गया. पायल ने ये काम इतनी सावधानी से किया कि मेरे लंड पर एक्सट्रा प्रेशर भी नही आने. पर पायल ने एक और कमाल कर दिया था वो था कि मौसी को चुदाई के लिए एकदम तय्यार कर दिया था.
मेरा खड़ा लंड देखकर तो मौसी लेटे लेटे ही मचल रही थी और अपने आप आकर बोली आज तुम लेटे रहो मैं तुम्हारी चुदाई करूँगी या ये समझ लो की मैं खुद चुदवाउन्गि. मौसी आकर मेरी जांघों(थाइस) पर बैठ गयी और अपनी दोनो टाँगें फैलाकर चुदाई के लिए अपनी चूत के छेद पर मेरे खड़े लंड का निशाना लेते हुए मेरा लंड अपनी चूत में लेने लगी.
थोड़ी कोशिश के बाद उसका निशाना लगा और उसने उपर से एक कुद्डी लगाई और मेरा लंड घूप्प से उसकी चूत के अंदर समा गया.
अब मैने कहा नही पहले मैं चुदाई करूँगा जब मैं थोड़ा थकु तब तुम स्टार्ट होना इतना कहकर मैने अपनी टाँगों को घुटनो से मोड़ा और मौसी की टाँगें अपनी कमर की तरफ करके उसको लिटा दिया और उसकी चूत पर धक्का लगाना सुरू कर दिया.
मौसी की चूत तो पहले से ही गर्म थी और मेरा लंड भी टाइट था तो हमारा चुदाई अभी सीधे 3र्ड गियर से ही सुरू हो गया बस असेललेराटोर दबाए रखना था और गाड़ी सरपट दौड़ रही थी.
मैने धक्के लगाने सुरू कर दिए और मैं पूरी ताक़त से उसकी चूत पर पिल गया मेरा लंड मौसी की चूत में बिल्कुल पंप के पिस्टन की तरह अंदर बाहर हो रहा था और मौसी बड़ी मस्ती से चुदाई का मज़ा ले रही थी. उधर पायल की बेबी जाग गयी तो पायल ने अपने कपड़े पहने और उसे गोद में लेकर उसको अपनी चूचियों से ही फीड करने लगी.
मौसी बोली आबे कपड़े पहनने की क्या ज़रूरत थी वह कौन सा तुझे समझ रही है. इस पर पायल बोली यार बच्चों पर इसका भी असर पढ़ता है, तो मौसी बोली अरे अगर वो जागी हो तो क्या तो चुदवाति नही है क्या तो पायल बोली नही मैं उससे सुलाने के बाद ही नंगी होती हूँ.
मैने कहा यार तुम बेकार में चुदाई का मज़ा खराब मत करो. मौसी बोली अब कुश तुम्हारे धक्के में दम नही रहा और तुम थक रहे हो चलो लेट जाओ और मुझे अपनी गंद का ज़ोर दिखाने दो मैने कहा ठीक है मौसी जान और मैने पोज़िशन बदल कर मौसी को अपने उपर ले लिया.
मौसी पूरी तरह से मस्ती में थी और मैं सचमुच थोड़ा थक रहा था तो मौसी ने रिवर्स गियर में गाड़ी दौड़ानी सुरू कर दी और हमारी चुदाई एक्सप्रेस सरपट उसकी डबल बेड पर दौड़ने लगी.
मौसी चुदाई की मस्ती से चीखने लगी कुउस्शह जाअरा तुम भी नईएचए ज़ूर्र्रर से, कुउउउस्ष और्र्रर ज़ोर सीए आआअहह एमेम माज़्ज़ा एयेए राआाहा हाईगूड आज़ाजजजज्ज तो चुदाई काअ मज़्ज़्ज़ा एयेए गया. मैने भी
मस्ती में नीचे से अपनी रफ़्तार बढ़ा दी और मैं भी कस्के और ज़ोर से धक्का पेली करने लगा.
जिससे मौसी की चूत में और हलचल होने लगी और वह कभी अपने दोनो हाथ पटकती, कभी अपना सर पटक कर और कभी अपनी गंद उठाकर मस्ती का आहस्सास करा रही थी.
जब मेरा लंड ईज़िली आगे पीछे होने लगा तो मैने अपने लंड को मौसी की चूत में धीरे धीरे राउंड स्टाइल में उप्पेर नीचे घुमाना सुरू कर दिया.

Visit My Thread
Send this user an email Send this user a private message Find all posts by this user
Quote this message in a reply
Post Reply 


[-]
Quick Reply
Message
Type your reply to this message here.


Image Verification
Image Verification
(case insensitive)
Please enter the text within the image on the left in to the text box below. This process is used to prevent automated posts.

Possibly Related Threads...
Thread: Author Replies: Views: Last Post
  जवान बहुवे की जवानी rajbr1981 7 1,261,833 18-07-2014 05:49 AM
Last Post: rajbr1981
  अपनी वास्तविक मौसी को गांव में चोदा gungun 0 340,324 08-07-2014 01:37 PM
Last Post: gungun
  मौसी बोली जवान लड़का है gungun 2 185,818 08-07-2014 01:36 PM
Last Post: gungun



User(s) browsing this thread: 2 Guest(s)

Indian Sex Stories

Contact Us | tzarevich.ru | Return to Top | Return to Content | Lite (Archive) Mode | RSS Syndication

Online porn video at mobile phone


malayalam sex movie downloadkamukta indian hindi sexhindi hot xall hindi sex storyhind sax storeமஜா மல்லிகா gangbang காம கதை indian sex sisterpriyanka chopra ki chudai sex storykannada pornwww tamil kamaverinokar ke sath sexkerala new sexsasur sex storysudhu choda chudioriya sex imageodia sex story in odiakollywood sex picssex mallu free downloadtamil village girl sex storysasur se chudisasur se chudai hindimaine apni sister ko chodachudai maatelugu hindi sexindian story porn moviesமாமியார் காம கதைகள் 2000ಕನ್ನಡ amma Mattu attigeya sex storysmoti gand ki chudai ki kahaniబామ్మ తో దెంగులాటtamil maza comhindi sexy kahaniya 2015freemalayalamsexhindi font sexstoryஅம்மாவின் பாவாடைய பார்த்து கை அடித்தேன்sasur ne choda hindi kahanikannada shrungara kathegalu newhindi naked imagenew kama tamilwife and friend fuck mechudai sabkikannada kama bookகட்டி புடுச்சுkamuk kahaniya with pictureurdu kahaniAvalude Bra urimarathi indian xxxpachi lanja dengudu kathalutamil free sex comindian bhabhi hindi sex storieschudai story jija saliindian marathi sexy storiesschool sex in hindisex stories in tamil fonttelugu bf photoskannadaxxxdiseteacher ne choda storykannada aunty hot videoskannad sex moviestelugu hot chatchikni chootmaa ke chudai ki kahaniwww hindisexstorieswww.comsexystoryhinditelugu kathalu pustakalutelagusex.film.d.lodwww malayalam sex storiessuhagrat sex xxxxxx desi kahanisasur bahu ki chudai hindi kahanisex kannada hdhot sex story hindi fontmaa bete ki chudai kahaninew bengali sex storychachi ko jabardasti choda hindi storybesharam didi ka gangbang story in hinditamil amma magan kamaveri kathaigaldesi maa chudai storysweeti ki chudaitelugu sex 69 bangimawww marathi sex stories com